मिल बाँचे मध्य प्रदेश – ग्राम पगारा

“मिल बाँचे मध्य प्रदेश ” का आयोजन सरकार द्वारा प्रदेश के सभी सरकारी प्राथमिक विद्यालय  दिनांक २६-०८-२०१७ को आयोजित किया गया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से सरकारी स्कूलों के बच्चों में पढाई के प्रति जागरुक्ता लाना है

इस कार्यक्रम के द्वारा हमको शासकीय माध्यमिक विध्यालय- ग्राम पगारा में भाग लेने का अवसर प्राप्त हुआ । वहां पर हमने कक्षा छठी, सातवीं एवं आठवीं के विद्यार्थियों से संवाद किया और बच्चों से अलग अलग विषयों पर  जैसे खेल, संगीत, पढाई, आगे भविष्य में क्या बनना चाहते है आदि बातों पर चर्चा करी। बच्चों में कार्यक्रम के प्रति काफी उत्साह था और बड़ी रूचि के साथ हमारे प्रश्नों के जवाब दिए।

Picture Courtesy: swikblog

कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्योलित और सरस्वती वंदना के साथ की गयी। सभी विद्यार्थी कक्षा में पहले से ही हम सबका इंतज़ार कर रहे थे। कर्यक्रम को रोचक बनाने के लिए हमने हिंदी फिल्मों के बारे में पूछा जो टीवी पर बच्चो ने देखी है उसमे से सभी बच्चो ने दंगल और बाहुबली का नाम सबसे पहले लिया और फिर एक विद्यार्थी  दिनेश ओझा ने सभी कक्षा के सामने दंगल फिल्म की कहानी और उससे क्या प्रेरणा मिलती है पूरी कक्षा को बड़े ही उत्साह से उसके बारे में बताया।

Picture Courtesy: swikblog

फिर उसके बाद एक छात्रा ने मधुर आवाज़ में पंजाबी गीत प्रस्तुत किया जिसके मनोबल को देखकर बाकी छात्राओं में भी उत्साह आ गया और उन सभी ने भी कहानी ,कविता आदि बोलकर पूरी कक्षा को सुनाई । इसके बाद हमने बच्चों को मरियप्पन थांगवेलु की कहानी सुनाई जिन्होंने हाल ही में भारत के लिए पेराओलिम्पिक में स्वर्ण पदक जीता है इस कहानी को बच्चों ने बड़े ही ध्यान पूर्वक सुना और ज़िंदगी में आगे लक्ष्य प्राप्त करने की प्रेरणा ली ।

इस कार्यक्रम के अंत में हमने बच्चों को उपहार स्वरुप ज्ञान वरदक पुस्तकें भेंट की।शासकीय स्कूल पगारा काफी बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है जिससे की छात्रों को पढाई के साथ साथ खेल कूद की भी सुविधा जनक जगह प्राप्त है और साथ में स्कूल के प्रधान अध्यापक  और समस्त स्टाफगण बच्चों के उज्जवल  भविष्य के लिए बड़ी मेहनत से प्रयास कर रहे है ।

Picture Courtesy: swikblog

करीब १२:३० बजे हमे माननिये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी का सन्देश रेडियो पर बच्चो के साथ सुना और इसी के साथ हमने स्कूल से विदाई ली इस उद्देश्य के साथ जब भी हमे अवसर प्राप्त होगा  हम हमेशा आने के लिए इच्छुक रहेंगे।

Picture Courtesy: swikblog

 

 

Share

3 thoughts on “मिल बाँचे मध्य प्रदेश – ग्राम पगारा

  • August 26, 2017 at 10:29 pm
    Permalink

    Bhut accha kaam kiya aap logo ne

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share